Month: January 2020

26 January Speech Wishes and Messages in Hindi

Preparing to give a Speech we have Best 26 January speeches in English, Hindi 2020, Telugu for School Students, Kids and Teachers – 26th January 1950 is one of the most prominent days to remember in the entire Indian history. It is the day our constitution came into force making our country an independent Republic. To mark its prominence, we celebrate Republic Day annually on 26th January. People send republic day images wishes to their loved ones on this day.

Republic Day is not just another Indian festival. It is the festival of joy shared between people belonging to every religion, caste, and creed. The entire country is decorated in tri-colors to convey that we belong to different castes, religions, and regions and speak different languages we recognize the fact that we are all one.

26 January Speech Wishes and Messages in Hindi 

would like to wish a happy morning to our honourable principal sir,
My beloved teachers, my supportive seniors and my lovely classmates.

I also wish to tell you a few facts about this special occasion.
Here we are to celebrate the 71st republic day of our nation.

Though our country got its independence on 15th August 1947,
it took some time, two and a half years to be precise, for our constitution to come into effect.

Our constitution came into full power from 26th January 1950,
from then, we started this tradition of celebrating 26th January as Republic Day which is a national day.

On this auspicious day, let us all remember those legends that sacrificed their lives for our well-being.
I would like to end this speech followed by a moment of silence for those great souls. 

Thanks for giving me this great opportunity to stand in front of you all and express my views!


गणतंत्र दिवस एक ऐसा दिन है जो शैक्षिक वातावरण में सबसे अधिक मनाता है जैसे कि यह प्राथमिक, उच्च प्राथमिक विद्यालय, पीजी कॉलेज, संस्थान, विश्वविद्यालय और कई अन्य शैक्षणिक शाखाएं जैसे कोचिंग सेंटर और ट्यूशन पॉइंट हैं। स्कूल के प्रिंसिपल एक महीने या 15 वें दिन पहले गणतंत्र दिवस की तैयारी के लिए आदेश पारित करते हैं।

शिक्षक गणतंत्र दिवस के पूरे समारोह के लिए जिम्मेदारी लेते हैं और वे उत्कृष्ट समारोह के लिए बच्चों, छात्रों को तैयार करते हैं। तो आशा है कि आप सभी अपने स्कूल के कार्यक्रमों के लिए हिंदी, मराठी, तमिल, पंजाबी और बंगाली भाषा में गणतंत्र दिवस कविता चाहते हैं।

इस 71 वें गणतंत्र दिवस पर अपने मित्रों को Sms Wishes और Republic Day Shayari In Hindi का उपयोग करने की इच्छा न करें। 26 जनवरी शायरी का चयन करें और अपने सभी व्हाट्सएप और फेसबुक संपर्कों पर भेजें। छात्र गणतंत्र दिवस समारोह के मंच पर प्रदर्शन करने में खुशी महसूस करता है।


 

26 जनवरी को चाहे स्कूल हो या कॉलेज या आफिस सभी जगह लोग 26 जनवरी यानी कि गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में भाषण देते हैं। यदि आप भी 26 जनवरी को भाषण देना चहाते हैं। तो हमारा ये आर्टिकल आपके काम आएगा। इसे जरूर पढें।

आप सभी को मेरी तरफ से सुप्रभात। मेरा नाम _____है। मैं____कक्षा …..का छात्र या शिक्षक हूँ। हम सब जानते हैं हम सब आज यहाँ एक विशेष अवसर पर एकत्र हुए हैं। आज के दिन को हम भारत के गणतंत्र दिवस के नाम से जानते हैं।

मैं आज के महान दिन पर आप सभी को भारत के गणतंत्र दिवस के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें बताना चाहती हूँ। सबसे पहले मैं आप सभी लोगों का शुक्रिया करना चाहती हूँ कि मुझे आप लोगों ने इस अद्भुत अवसर पर ये मौका दिया कि मैं यहां आपके सामने खडे होकर इस अवसर के बारे में और अपने प्यारे देश के विषय में कुछ शब्द बोल सकूं।

देशभक्तों के त्याग, तपस्या और बलिदान की अमर कहानी 26 जनवरी का पर्व समेटे हुए है। उत्सर्ग और शौर्य का इतिहास भारत की भूमि पर पग-पग में अंकित है। किसी ने सच ही कहा है-

कण-कण में सोया शहीद, पत्थर-पत्थर इतिहास है।

26 जनवरी हमारे देश के लिए बहुत खास दिन है। गणतन्त्र (गण+तंत्र) का अर्थ है, जनता के द्वारा जनता के लिये शासन। हमारे देश का संविधान 26 जनवरी 1950 को लागु हुआ था। 26 जनवरी 1950 को हमारे देश भारत एक गणतंत्र देश बन गया था। इस दिन की सबसे अच्छी बात यह है कि सभी जाति एवं वर्ग के लोग इसको एक साथ मिलकर मनाते हैं। आप सभी को पता होगा कि रिपब्लिक या गणतंत्र का मतलब क्या होता है। अपने राजनीतिक नेता को चुनने का अधिकार देश में लोगों के ऊपर होता है। भारत के महान स्वतंत्रता सेनानियों ने कड़ी मेहनत और संघर्ष के करके ही भारत को पूर्ण स्वराज दिलाया है। उन्होंने हमारे लिए बहुत कुछ किया है उसका ही नतीजा है कि आज हम अपने देश भारत में आराम से रह रहें है।

भारत देश के कुछ महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानी नेताओं में इन महान नेताओं का नाम आता है। जैसे महात्मा गाँधी, भगत सिंह, चन्द्र शेखर आजाद, लाला लाजपत राय, सरदार बल्लभ भाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री इन स्वतंत्रता सेनानियों ने हमारे भारत देश को आजाद कराने के लिए अपनी जान भी न्यौछावर कर दी थी। और उनके इन महान कामों के लिए ही आज भी उनका नाम भारत देश के इतिहास में लिखा है। न ही सिर्फ लिखा ब्लकि आज भी देश का बच्चा बच्चा उनको याद करता है और उनके तरह बनना चाहता है। लगातार कई वर्षों तक इन महान लोगों ने ब्रिटिश सरकार का सामना किया और हमारे वतन को उनकी गुलामी से आज़ाद कराया। भारत वासी उनके इस बलिदान को कभी भी भुला नहीं सकते हैं। उन्ही के कारण आज हम अपने देश में आज़ादी से सांस ले रहे हैं।

हमारे प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने कहा था कि, ” हमने एक ही संविधान और संघ में हमारे पूर्ण महान और विशाल देश के अधिकार को पाया है। जो देश में रह रहे सभी पुरुषों और महिलाओं के कल्याण की जिम्मेदारी लेता है। यह बहुत ही शर्म की बात है कि आजादी के इतने वर्षों के बाद भी हम आज अपराध, भ्रष्टाचार और हिंसा जैसी समस्याओं से लड़ रहे हैं। अब समय आ गया है कि हमें दोबारा एक साथ मिलकर अपने देश से इन बुराइयों को बाहर निकाल फेंकना है जैसे कि स्वतंत्रता सेनानी नेताओं ने अंग्रेजों को हमारे देश से निकाल दिया था। हमें अपने भारत देश को एक सफल, विकसित और स्वच्छ देश बनाना होगा। हमें अपने भारत देश की गरीबी, बेरोजगारी, अशिक्षा, ग्लोबल वार्मिंग, असमानता, आदि जैसे चीजों को अच्छी तरह समझना होगा और इनका हल निकालना होगा।

आओ करे प्रतिज्ञा हम सब इस पावन गणतन्त्र दिवस पर,
हम सब बापू के आदर्शों को अपनायेगे नया समाज बनायेंगे,
भारत माँ के वीर सपूतों के बलिदानों को हम व्यर्थ न जानें देंगे,
जाति ,धर्म के भेदभाव से ऊपर उठकर नया समाज बनायेंगे.

मैं एक बार फिर आपको अपने भाषण को ध्यान से सुनने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं और मुझे आप सभी के सामने अपनी बात रखने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। और आपको भी बात करने का मौका देना चाहता हूं। जय हिन्द! वन्दे मातरम!”

Updated: January 15, 2020 — 6:20 pm